विश्व के ६६ रचनाकारों द्वारा लिखा गया उपन्यास “खट्टे मीठे रिश्ते” का लोकार्पण हुआ …

संजय कुमार गिरि २९ नवम्बर २०१५,`विश्व हिंदी संस्थान कनाडा.के संस्थापक प्रो.सरन घई द्वारा संपादित उपन्यास “खट्टे मिट्ठे-रिश्ते”का लोकार्पण रेलवे ऑफिसर्स क्लब पी के मार्ग ,नई दिल्ली में “युवा उत्कर्ष साहित्यिक मंच “के बेनर तले आयोजित किया गया !

इस अनूठे उपन्यास को विश्व के ६६ रचनाकारों द्वारा लिखा गया है ! मंच की अध्यक्षता प्रो .विश्वम्भर शुक्ल ने की मुख्य अतिथि प्रो सरन घई एवं विशिष्ट अतिथि श्याम नंदा नूर एवं रमेश सिद्धार्थ रहे !प्रो.सरन घई ने अपने वक्तव्य में कहा की रिश्ते मेरे लिए कोतुहाल का विषय रहे हैं ,परिवारों में रिश्तेदारों को एक दुसरे के लिए अपनी जान तक कुर्बान करते देखा है और भाई भाई को जमीं जायजाद के लिए लड़ते हुए भी देखा है ,बहु को पूरे परिवार की सेवा करते भी देखा है और साँसों को सांस लेना भी मुहाल करते देखा और इसके विपरीत सास को बुढापे में खटते हुए भी देखा है और बहु को सिंघासन पर विराजमान होकर हुकुम देते हुए भी देखा है कहने का तात्पर्य यह है की मैंने रिश्तों के कई रंग देखे हैं तो सोचा क्यूँ न इ परिवार ऐसा भी बनाया जाए जो विश्व के विभिन्न कोनो में बैठा हो और कोई किसी को जानता तक न हो और न पहचानता हो फिर भी एक परिवार का अंग ,सच्चा रिश्तेदार बने ,इन रिश्तेदारों को खोजने का माध्यम मैंने फेसबुक लो चुना और रच दिया एक इतिहास जो इससे पहले कभी नहीं हुआ वह मैंने विश्व के ६६ रचनाकारों द्वारा विश्व का एक अनूठा उपन्यास “खट्टे मीठे रिश्ते” !

प्रो .सरन घई ने इसको अपनी वैश्विक पहचान दिलवाने के लिए “गिनिस ऑफ़ बर्ल्ड रिकोर्ड” के अधिकारियों को भी लिख चुके हैं इस अवसर पर ६६ रचनाकारों में से कुछ रचनाकारों को सम्मान पत्र एवं पुष्पमाला पहना कर सम्मानित भी किया गया जिनमें डॉ दमयन्ती शर्मा “दीपा”,पीयूष कुमार द्वेदी “पुतू” “डॉ.पुष्पा जोशी ,आरती शर्मा ,निर्देश शर्मा सुरेश पाल वर्मा संजय कुमार गिरि, ओम प्रकाश शुक्ल प्रमुख रूप से उपस्थित थे !उन लेखकों के नाम जो उपन्यास “खट्टे-मीठे रिश्ते” में अपनी कलम से योगदान कर चुके हैं:
1. डा. स्वीट एंजल, २. मनन सिंह ३. सरस्वती जोशी ४. आशा खत्री ५. पियूष कुमार द्विवेदी ’पूतू’ ६. ब्रह्मदेव शर्मा ७. नमिता राकेश ८. मनी नमन ९. आरती शर्मा १०. सरोज उप्रेती ११. शील निगम १२. शुभि सक्सेना १३. प्रियंबरा बक्षी १४. कवि अज्ञान जी (सुरेन्द्र ठाकुर) १५. डा. पुष्पा जोशी १६. सौरभ पांडे १७. संजय गिरी १८. अज़ीम अहमद खान १९. डा. मनसा पांडे २०. ज्योतिर्मयी पंत २१. राजीव उपाध्याय २२. मीना धर द्विवेदी पाठक २३. महिमा श्री २४. वंदना अग्निहोत्री २५. सरन घई २६. ओम प्रकाश शुक्ल २७. मधु सक्सेना २८. दिनेश गुप्ता २९. पुनीता सिंह ३०. स्वाति शर्मा ३१. निर्मल मिश्रा ३२. लता तेजेश्वर ३३. राज हीरामन ३४. गरिमा कांसकर ३५. मंजू शर्मा ३६. रेणुका शर्मा ३७. सविता अग्रवाल ३८. चरण सिंह अमी ३९. टीकम शेखावत ४०. शरद जायसवाल ४१. सुरेन्द्र कुमार अरोड़ा ४२. रमा वर्मा ४३. मंजू गुप्ता ४४. संजीव अग्रवाल ४५. नीरा राजपाल ४६. अजय श्री ४७. सुरेश पाल वर्मा ४८. रेखा दुबे ४९. शशी पुरवार ५०. नीलम दीक्षित ५१. निर्देश शर्मा पाबलेवाला ५२. सुधा आदेश ५३. निवेदिता दिनकर ५४. शन्नो अग्रवाल ५५. राजेश जैन, ५६. संजय वर्मा, ५७ आले हसन खान ५८. प्रशांत गुप्ता, भारत ५९. रवि नंदन त्रिपाठी ६० विनोद कुमार भल्ला ६१. जयश्री भोसले ६२. दमयंती शर्मा ६३. रेखा जोशी ६४. संदीप त्यागी ६५ भगवती प्रसाद पंत

 

- संजय वर्मा “दृष्टि “

 

विधा - पत्र लेखन, व्यंग्य ,समीक्षा ,आलेख, हायकू ,गीत ,कविता ,लघुकथा आदि ।

प्रकाशन - देश की विभिन्न पत्र -पत्रिकाओं में रचनाएँ व् समाचार पत्रों में निरंतर पत्र प्रकाशित ।

सम्प्रति - जल संसाधन विभाग में मानचित्रकार के पदपर सेवारत

One thought on “विश्व के ६६ रचनाकारों द्वारा लिखा गया उपन्यास “खट्टे मीठे रिश्ते” का लोकार्पण हुआ …

  1. आपके इस प्रकाशन के लिए हार्दिक शुभकामनाएँ । हिंदी साहित्य के लिए आप इसी प्रकार से रचनात्मक कार्य करते रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>