नव वर्ष पर कुछ हाइकु

नवल वर्ष

अभिनंदन नव

जीत प्रबल।

विगत वर्ष

कुछ गलत ठीक

अब सटीक।

क्रीडा जगत

हो सजग प्रयास

उल्लास-हास।

यत्न सफल

रहें दृढ़ संकल्प

जय हो श्रम।

बादल वर्षा

प्रचंड पवन ओ

पौष सबल।

फलदार तरु

झुकी विनम्र डाल 

ओ मस्त चाल । 

 

 

- डॉ मधु संधु

 

 

शिक्षा : एम. ए., पी-एच. डी.

प्रकाशन : दो कहानी संग्रह, एक काव्य संग्रह , दो गद्य संकलन, तीन कोश ग्रंथ और छह आलोचनात्मक पुस्तकें प्रकाशित ।

पचास से अधिक शोध -प्रबन्धों/अणुबन्धों का निर्देशन।

विश्व भर की नामी पत्रिकाओं में लगातार प्रकाशित ।

सम्प्रति : गुरु नानक देव विश्व विद्यालय के हिन्दी विभाग की पूर्व प्रोफेसर एवं अध्यक्ष ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>