“आरंभ चैरिटेबल फाउंडेशन” ,भोपाल द्वारा” स्वयंसिद्धि रूपा” कार्यक्रम का आयोजन

“आरंभ  चैरिटेबल फाउंडेशन” ,भोपाल द्वारा आज मनुआ भान टेकरी पर ” स्वयंसिद्धि रूपा” कार्यक्रम आयोजित किया  जिसमें सभी प्रमुख रचनाकारों ने भाग लिया और नारी विषयक प्रतिनिधि रचनाएं सुनाकर अपनी अभिव्यक्ति की।
इस अवसर पर  आरंभ  चैरिटेबल फाउंडेशन की अध्यक्ष अनुपमा अनुश्री ने कहा कि सृष्टि की निर्मात्री नारी की अद्भुत मानसिक और शारीरिक संरचना पुरुषों के लाभ के लिए नहीं बल्कि सृष्टि को चलायमान रखने और खूबसूरत बनाने के लिए है। आज नारी हर क्षेत्र में अपनी अपनी सफलता के नए कीर्तिमान रच रही है  पुरुषों को अपनी संकीर्ण मानसिकता और अहम वादी सोच बदलने की जरूरत है।
वहीं वरिष्ठ साहित्यकार अरविंद जैन  ने अपना वक्तव्य देते हुए कहा-
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के संदर्भ में मेरी तरफ से बहुत-बहुत बधाई ।नई सदी की नारी के पास कामयाबी के उच्चतम शिखर को छूने की अपार क्षमता है उसके पास अनगिनत अवसर भी हैं । इच्छा शक्ति एवं शिक्षा ने नारी मन को उच्च आकांक्षाओं, सपनों के सप्त रंग एवं अंतर्मन की परतों को खोलने की नई राहें दी हैं।
कार्यक्रम में रचनाकारों को नारी होने के उत्सव और उसके स्वयंसिद्धि रूप को मनाने  हेतु संस्था द्वारा स्मृति चिन्ह मोमेंटो प्रदान किए गए ।आभार प्रदर्शन सुनीता शर्मा ने किया। संचालन अनीता श्रीवास्तव जी द्वारा किया गया।
नारी के विभिन्न आयामों ,विभिन्न रूपों, उसकी शक्ति और उसकी सृष्टि  को विभिन्न रचनाकारों ने अपनी प्रस्तुतियों में बखूबी प्रदर्शित किया।
हिंसा हो रही उस पर जो, हम सबको ही जनती है
नर इतना क्यों क्रूर हुआ, कि पशुता भी डरती है।
@सुधा दुबे
विमर्श, विमर्श, विमर्श! कैसा स्त्री विमर्श !
विमर्श तो होना चाहिए उस पुरुष की
अहम ग्रस्त उस मानसिकता पर हो जो,
जीने नहीं देता स्त्री को, मानवी समझ सहर्ष।
@अनुपमा अनुश्री
खुशनुमा सा है इक जहां औरत
है मुहब्बत का गुलसितां औरत
अस्ल में अपने बच्चों के हक में
ममता  का है  सायबां  औरत
देती रहती है रोज़ हंस हंस कर
कोई  न  कोई  इम्तिहां  औरत
@ डॉ ओरीना अदा
मेरी और परीक्षा न लो
धैर्य मेरी ताकत कोमलता पहचान है/एक बार में अनेक काम/करने की शक्ति विधाता की देन है/…… @रागिनी उपलपवार
नारी  कभी  न  हारी
खेलेगी अब लंबी पारी
भिन्न-भिन्न रूप हैं उसके
हर रूप में  खास है  नारी
@अमित हर्ष मालवीय
मातृभूमि को नमन करती
मैं भारत की नारी हूं
तीन रंग का आंचल मेरा
धानी चूनर पहने हूं
सनातन सुहाग है मेरा
संस्कारों की माला हूं, मैं भारत की नारी हूं।
@ अनीता श्रीवास्तव
अबला बेचारी शब्द मिटा दो.. दुर्गा चंडी सा बनना है..।घुट घुट नही जीना हमको ..मुक्त गगन में उडना हैं.
@सुनीता शर्मा
नारी सशक्तिकरण वही है
जब उसकी महिमा जानो
वनो संबल एक दूजे का
मत नारी को कम आंको।
@उर्मिला मिश्र
नारी लक्ष्मी है सरस्वती है, नारी ही दुर्गा है।
नारी मधुर संगीत है, समस्त जग में प्रवाहित ऊर्जा है।
तुम देखते हो नारी को, सिर्फ एक शरीर रूप में।
पर वो सिर्फ तन नहीं,
ज्ञान की, प्रेम की, ममत्व की प्रज्जवालिता है।
@डॉ मीनू पाण्डेय नयन
नारी माँ ,नारी बहन ,नारी पत्नी रूप है
अबला,  भोग्या नही नारी देवी स्वरूप है।
@मनोज देशमुख
मत बिछाना मेरी राहों मे फूल
पर कम से कम कांटे भी मत बिछाना
जब मै चढ़ रही होऊंगी सफलता की सीढ़ी
हौसला मत बढ़ाना पर तोड़ना भी मत
फिर देखना मै खुद ही निकल पडूंगी
क्षितिज की ओर ।
@बिन्दु त्रिपाठी
मेरी पंक्तियां हैं
नारी का स्थान महान
नारी कर्म ममता प्यार   मूरत है
इंसानियत की सूरत है
नारी कोमलांगी सही , दुर्गा भवानी है
नारी शरीर में बहता लहू ,न बहता पानी है
@ मालती बसंत
शक्ति को जगाएं हम ,शक्ति को सजाएं
@ रजनी सक्सेना

- अनुपमा श्रीवास्तव’ ‘अनुश्री’

जन्मस्थान- जबलपुर  

शिक्षा- एमएससी , एल एल बी, 
मॉरीशस में अध्यापन , संम्प्रति – एनाउंसर,  आल इंडिया रेडियो,  भोपाल। -                                         

साहित्यिक अभिरुचियां –   कवितायेँ , कहानियां , आलेख ,बाल साहित्य ,क्षणिकाऐं , मुक्तक, हायकु।

‘ प्रकाशन  ’ -       ‘अवि, तुम्हारे लिए , बाल काव्य संग्रह प्रकाशित   , काव्य पुस्तक , बाल -कहानी पुस्तक प्रकाशनाधीन । देश-विदेश के  प्रमुख पत्र -पत्रिकाओं एवं समाचार -पत्रों में रचनाओं का   निरन्तर प्रकाशन। इंटरनेट  पर साहित्यिक  गतिविधियाँ , ब्लॉग ,आदि।

  ‘ सदस्य ’, ‘पदाधिकारी ‘     -   हिंदी लेखिका संघ , म. प्र ( पूर्व प्रचार-प्रसार सचिव ) 
-  कला   मंदिर , भोपाल (प्रचार  -प्रसार सचिव)       
-  बाल  कल्याण एवं  बाल   साहित्य  शोध केंद्र,     भोपाल (प्रचार  -प्रसार सचिव )  
-  अखिल भारतीय बुंदेलखंड एवं साहित्य परिषद, म.प्र , भोपाल 
 -अखिल भारतीय साहित्य परिषद , भोपाल 

-  म.प्र  राष्ट्रभाषा प्रचार समिति , हिंदी भवन , भोपाल          
-  म.प्र लेखक संघ , भोपाल                      

- आगमन साहित्यिक संस्था , दिल्ली , 
                 (संयुक्त प्रभारी , मध्य प्रदेश )

  ‘ प्रसारण’ -    दूरदर्शन,  मध्यप्रदेश,  से ‘साहित्य समय , काव्यान्जलि , परिवार आदि कार्यक्रमों में काव्य पाठ का प्रसारण एवं संचालन , टॉक शो में  भागीदारी। 
             ‘ आकाशवाणी ’ – के नारीशक्ति, बालसभा , कोपल कार्यक्रमों में कविताओं , कहानियों , आलेख , बाल रचनाओं ,कहानियों का निरन्तर प्रसारण एवं संचालन। 
              ‘ E.TV (m.p) ’- स्क्रिप्ट लेखन एवं कविताओं का प्रसारण

 “ सम्मान ” -
– “अक्षर-  शिल्पी सम्मान ’ -  2013 , गांधी भवन, नई दिल्ली में , संस्कार सारथी ट्रस्ट ,  नई दिल्ली द्वारा। 
– ” साहित्यकार सम्मान –   2013 ,  कादम्बिनी समिति एवं नेशनल बुक ट्रस्ट , नई दिल्ली द्वारा।  
– ” बाल साहित्यकार सम्मान –  2014,  हिंदी लेखिका संघ , म.प्र द्वारा।

- “बाल साहित्य प्रोत्साहन पुरस्कार ’ – 2013 ,  राष्ट्रीय बाल साहित्य सम्मान समारोह
में   चित्रा प्रकाशन , राजस्थान द्वारा।

- ” हिंदी सेवी सम्मान ” –   2014 ,  जे,एम,डी प्रकाशन, नई दिल्ली ,  द्वारा।

- “राष्ट्र भाषा गौरव सम्मान ” -  2014,  अखिल भारतीय हिंदी सेवी संस्थान, इलाहाबाद द्वारा।

- “काव्य श्री ” सम्मान -2015,  सरस्वती कला संगम, झाँसी , द्वारा ।

- “काव्य कुमुदिनी ” सम्मान – 2016 , अखिल भारतीय साहित्य  संगम, राजस्थान, द्वारा।

- ” उर्वशी सम्मान ” 2016 – अंतर्राष्ट्रीय साहित्य ,शोध , संस्कृति पत्रिका ‘उर्वशी  ‘ द्वारा।

- ” सोशल मीडिया मैत्री सम्मान ” – 2016,  लेखन , एंकरिंग , गायन की बहुमुखी प्रतिभा   हेतु ‘ हम सब साथ साथ संस्था , दिल्ली,  द्वारा।

- ‘प्रशस्ति – पत्र ‘ गायन हेतु ‘ -  भोपाल उत्सव मेला समिति , भोपाल द्वारा।

- ‘ वाणी प्रमाण – पत्र ‘ -  प्रसार भारती , आकाशवाणी , नई दिल्ली  द्वारा।

 

  ‘अंतर्राष्ट्रीय सम्मान ‘

“ हिंदी साहित्य अकादमी “ , मॉरिशस  द्वारा ‘ सम्मान पत्र ’ (  हिंदी भाषा ,संस्कृति सेवा एवं संवर्धन हेतु )। 
“ विश्व हिंदी संस्थान ,कनाडा द्वारा ‘ सम्मान – पत्र ‘  ( हिंदी भाषा  ,संस्कृति के विश्व व्यापी प्रचार-प्रसार में रचनात्मक सहयोग देने हेतु )।

 “अन्य  गतिविधियाँ”

-  समाज सेवा , गायन ,  सम्पादन , इंटरनेट पर साहित्यिक गतिविधियाँ , ब्लॉग्स।  विद्यालयों में छात्रों के मध्य ‘ बाल –प्रतिभा श्रृंखला ‘ का आयोजन ( हिंदी भाषा के पठन -पाठन ,शुद्ध हिंदी  लेखन , प्रचार -प्रसार को प्रोत्साहित करने हेतु )। 
बिभिन्न संस्थाओं और शालाओं में बच्चों की विभिन्न  गतिविधियों का संयोजन। 
  उप संपादन – अंतर्राष्ट्रीय ‘ओजस्विनी ‘ पत्रिका। 
संपादन – ‘बाल -मुस्कान ‘ ( अंतर्राष्ट्रीय इ- पत्रिका ‘प्रयास ‘) , कनाडा। 
‘राष्ट्रीय बाल रंग उत्सव’  एवं अन्य साहित्यिक , सांस्कृतिक कार्यक्रमों में निर्णायक की भूमिका ।   
“स्टोरी मिरर ‘ मुंबई द्वारा  आयोजित साहित्यिक प्रतियोगिता 2017 में निर्णायक।
तूर्यनाद 17, मेनिट, भोपाल में वाद -विवाद प्रतियोगिता में निर्णायक एंव अध्यक्षता।


 ’संचालन’ 
‘दूरदर्शन’  -  दूरदर्शन ,मध्य प्रदेश के ‘काव्यान्जलि ‘,  ये है नारी शक्ति आदि कार्यक्रमों में संचालन। 
‘आकाशवाणी’  -  नारी -शक्ति , सांस्कृतिक , काव्य पाठ,  विशेष कार्यक्रमों का संचालन। 
‘भारत भवन’ , भोपाल – अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सुविख्यात भारत भवन में ‘स्त्री रचनाशीलता ‘को समर्पित ‘आद्या ‘ नौ दिवसीय कार्यक्रम का संचालन। 
‘विधानसभा भवन’ , भोपाल -  ‘ मध्य प्रदेश छात्र संसद  ‘ का संचालन 
रवींद्र भवन , मानस भवन , हिंदी भवन , रेड क्रॉस  सहित देश के कई स्थानों में सांस्कृतिक ,       शैक्षिक , साहित्यिक, सामाजिक कार्यक्रमों का संचालन। 
                     ‘ संचालन हेतु पुरस्कार ‘

-  बेस्ट एंकर अवार्ड ‘ – सार्वदेशिक कायस्थ युवा   प्रतिनिधि संस्था , भोपाल  द्वारा।   
-  राष्ट्रीय संचालन एवं श्रेष्ठता अलंकरण , – निर्दलीय प्रकाशन ,नई दिल्ली -भोपाल द्वारा।   
– श्रेष्ठ संचालन हेतु प्रशस्ति पत्र, – ‘ पर्पल मार्च ‘( इंडो- यूरोपियन चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड  इंडस्ट्री) द्वारा।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>