पत्र

पत्र

पत्र , पत्रिका और पाठकों के बीच संवाद का माध्यम हैं।

आपके पत्र हमारा मनोबल बढ़ाते है। हमें और बेहतर करने के लिए प्रेरित करते हैं।

आपके अपने खट्टे मीठे पत्रों की इस दुनिया में आपका स्वागत है…
*********************************************************************************************************

नमस्कार जी,
आपके द्वारा नीदरलैंड से संपादित पत्रिका को देखा बहुत-बहुत साधुवाद। आप ऐसे ही प्रगति उन्नति करते रहे ।यदि कहीं मेरा सहयोग या उपयोग  की आपको जरूरत हो तो बताइएगा ।
आपका ,
डॉ. सत्यवीर सिंह
सहायक आचार्य -हिंदी ,
राजकीय महाविद्यालय ,कोटपुतली .जयपुर ,राजस्थान भारत
*********************************************************************************************************
सादर नमस्कार,
आपका प्रस्तुत अंक भी पहले की ही तरह आकर्षक उपयोगी एवं शिक्षाप्रद है। समस्त टीम को मेरी ओर से हार्दिक बधाई और ढेर सारी शुभकामनाएं।
मैं आप का ये मैसेज अपने ग्रुप में शेयर कर दूंगी ताकि आपको बहुत से विकल्प प्राप्त हो  एवं निरंतर नए-नए लेखक आपसे जुड़ते रहें।
आपकी शुभकामनाओं के चलते मेरा परिचय अब थोड़ा विस्तृत हो चुका है जो मैं आपके साथ साझा करने जा रही हूं। कृपया अगली बार नवीनतम परिचय संलग्न करें।
एक बार फिर से धन्यवाद तथा ढेर सारी शुभकामनाएं।
डॉ विदुषी शर्मा
ऋषि नगर रानी बाग दिल्ली
*********************************************************************************************************
नमस्कार
अम्स्टेल गंगा की पूरी टीम को धन्यवाद।
डॉ ज्ञान प्रकाश
*********************************************************************************************************
धन्यवाद।
बहुत सुंदर अंक।
पूरी टीम को बधाई।
संतोष पटेल।
*********************************************************************************************************
बहुत बढ़िया अंक। .. बहुत बधाई।
सादर ,
प्रियंका गुप्ता
*********************************************************************************************************

Recent Posts