पत्रिका के अनुभाग

पत्रिका के अनुभाग:अप्रैल – जून २०२० (अंक २९, वर्ष ९)

अम्स्टेल गंगा के इस फुलवारी में आपका स्वागत है।
रंग बिरंगे फूलों की इस बगीया में विचरण करे और हमें अपनी प्रतिक्रियाओं से अवगत करायें।

सम्पादक मंडल
अम्स्टेलगंगा परिवार

पत्रिका के अनुभाग: विषय सूची 

 

हिंदी साहित्य:::

काव्य साहित्य:

 

दोहे:

दोहे : प्रिय होता तरबूज.. – विश्वम्भर पाण्डेय ’व्यग्र’

 

माहिया:

माहिया – बेटी तो प्यारी है – ज्योत्स्ना प्रदीप

कुण्डलियाँ:

त्रिलोक सिंह ठकुरेला की कुण्डलियां

 

कविता:

पीड़ा - सविता अग्रवाल “सवि”

बरसाती बचपन – डॉ. संगम वर्मा

मेरे लिए क्या हो तुम – शशि बाला

फूल बनूँगा – प्रोफेसर  डॉ. चमन सिंह ठाकुर

होली की कवितायेँ – अर्विना गहलोत

बदलाव – डॉ नरेश कुमार ‘‘सागर’’

होरी आयी ,होरी आयी – संध्या चतुर्वेदी

तोड़ के बंधन – रश्मि लता

जिंदगी गुलज़ार हैं! – डॉ. दीप्ती कपूर शर्मा

चूल्हा – दुर्गेश कुमार चौधरी

मैं बेटी हूँ - श्याम राज

बसंत की कवितायेँ  – प्राण शर्मा

 

लेख::

मोहे रंग दे ओ रंगरेज़ – अवनीश सिंह चौहान

गुजरात में हिंदी प्रचार प्रसार में शिक्षा संस्थाओं का योगदान  – डॉ कल्पना गवली

शाकाहार से कोरेना वायरस  में कमी आएंगी  – संजय वर्मा “दृष्टी “

राम कथा में वैश्विक मूल्य  – डॉ विदुषी शर्मा

 

व्यंग्य::

ऑन लाइन खर्राटे ! – गिरीश पंकज

जनरेशन गैप – नीरज त्रिपाठी

 

बच्चों का कोना::

बिना प्रयोग़, बोझिल विषय है विज्ञान – आइवर यूशिएल

बाल चित्रकला : रेखाचित्र – रिया खरयाल

बाल चित्रकला : गुलदस्ता एक फूलों का – मास्टर अक्षित सिंह

 

लघुकथा::

ताबीज – डॉ लता अग्रवाल

पैलेस ऑन व्हील – कान्ता रॉय

बछड़ू – मृणाल आशुतोष

अब और नहीं … – डॉ ज्ञान प्रकाश

दरकते रिश्ते – रज़िया रागिनी ‘समर’

मुक्तिदाता – सतविन्द्र कुमार राणा

 

कहानी::

सियासतदारी में हमशक़्ल होने के मायने – डॉ. मनोज मोक्षेंद्र

कह भी दो न! – मधु अरोड़ा

तेरी मेरी कहानी – डॉ0 मु0 हनीफ़

 

भोजपुरी हिंदी साहित्य:::

बात पर बात जब मन परल होई – मनोज सिंह ‘भावुक’

  

अम्स्टेल गंगा समाचार :::

एक समान, एक सक्षम दुनिया के लिए जेंडर संवेदनदशीलता अत्यावश्यक : प्रो.अवस्थी – अम्स्टेल गंगा समाचार ब्यूरो

प्रो पुष्पिता अवस्थी जी को विश्व शांति का वैश्विक राजदूत नियुक्त किया गया – अम्स्टेल गंगा समाचार ब्यूरो

 

साहित्यिक समाचार :::

कोरोना वायरस पर आधारित कविताओं का काव्यसंग्रह प्रकाशित – डॉ. अरुण कुमार निषाद

सर्व भाषा ट्रस्ट द्वारा ऑनलाइन कवि गोष्ठी का आयोजन – रीता मिश्रा

 

पुस्तक समीक्षा:::

मेराज अहमद की कहानी संग्रह ‘दावत’ में अवध की स्त्री – अकरम हुसैन

संवेदनाओं को शब्द देती कवितायें : सदाये दिल – डॉ. अरुण कुमार निषाद

 

प्रस्तावित पुस्तकें::: 

केती – कोती – डॉ पुष्पिता अवस्थी

कुछ जग की – कादंबरी मेहरा

 

शोधपत्र:::

शोधपत्र : पेपरलेस होती भारत की संसद की पर्यावरण सरंक्षण की पहल – डॉ. हरीश चंद्र लखेड़ा

 

कला दीर्घा::: 

बसंतऋतु – पारुल पांडेय तिवारी

एकान्तवास – कृशानु रॉय

श्रीगणेश – स्मिता

Recent Posts