पत्रिका के अनुभाग

पत्रिका के अनुभाग: अप्रैल – जून २०१९ (अंक २६, वर्ष ८)

अम्स्टेल गंगा के इस फुलवारी में आपका स्वागत है।
रंग बिरंगे फूलों की इस बगीया में विचरण करे और हमें अपनी प्रतिक्रियाओं से अवगत करायें।

सम्पादक मंडल
अम्स्टेल गंगा

पत्रिका के अनुभाग: विषय सूची 

 

हिंदी साहित्य:::

काव्य साहित्य:

क्षणिकाएँ::

क्षणिकाएँ – नरपत वैतालिक

कुण्डलियाँ::

कुण्डलियाँ  – सतविन्द्र कुमार राणा

               कविता:

बोखलाई हुई कुर्सी की भाषा – रमेशराज

तुम जरूर रोना – शालिनी मोहन

अमृत काव्य कुंभ – सारिका पारीक ‘ जुवि ‘

प्रश्न – सलिल सरोज

नादान – डॉ संगीता गांधी

निराश नहीं है वह आदमी – राजकुमार जैन  ’राजन’

विश्वासघात – सुधीर केवलिया

लड़ो ग़रीबी को दूर करने के लिए – संध्या कुमारी

बनारस - रोहित ठाकुर

 

लेख::

साहित्य में शिवम की अवधारणा – डॉ. दिग्विजय कुमार शर्मा

“भय” कानून का – डॉ विदुषी शर्मा

हिंदी साहित्य का स्त्री प्रश्न – यदुवंश यादव

 

व्यंग्य::

सरकार का पुतला जिंदाबाद – अशोक गौतम

 

बच्चों का कोना::

आइवर यूशियल की पजलें – आइवर यूशियल

गोले का छल्ला उड़-उड़ रे  – सुधा भार्गव

देश के जवान – पुखराज सोलंकी

बाल चित्रकला :एक नन्ही तूलिका से – मास्टर अक्षित सिंह

बाल चित्रकला :कल्पना के पंख – मास्टर अध्रित सिंह

 

लघुकथा::

गर्व – चंद्रेश कुमार छतलानी

खिंचाव – विश्वम्भर पाण्डेय ’व्यग्र’

बन्दे हैं हम उसके – डॉ. कुमारसम्भव जोशी

डार्विन का सिद्धान्त – ज्योति शर्मा

भूख लगती है – राजेश मेहरा

सब ठीक है – डॉ ज्ञान प्रकाश

एक नई आशा – मुकेश कुमार ऋषि वर्मा

 

कहानी::

विम्मी – कादंबरी मेहरा

मटरु – अमरेन्द्र सुमन

रेशम का कीडा़ – आलोक कुमार सातपुते

डोली सज़ा के रखना (थर्ड जेंडर की कहानी)  – डॉ.सुनील जाधव

कुर्सी अभी भी खाली है – मधु अरोड़ा

जीवनधारा -  किरण बरनवाल

 

भोजपुरी हिंदी साहित्य:::

हमरा विश्वास बाटे कि हम एक दिन  – मनोज सिंह ‘भावुक’

  

साहित्यिक समाचार :::

“आरंभ चैरिटेबल फाउंडेशन” ,भोपाल द्वारा” स्वयंसिद्धि रूपा” कार्यक्रम का आयोजन – अनुपमा श्रीवास्तव ‘अनुश्री’

 

पुस्तक समीक्षा:::

बाजीराव बल्लाळ एक अद्वितीय योद्धा – अभय अरविंद बेडेकर

अमर ग्रंथ : माँ हिंदी – मुकेश कुमार ऋषि वर्मा

श्रंखला (लघुकथा संग्रह) – ओमप्रकाश क्षत्रिय ‘प्रकाश’

 

प्रस्तावित पुस्तकें::: 

हिर्दय की हथेली – डॉ पुष्पिता अवस्थी

वाया पांडेपुर चौराहा  – नीरजा माधव

 

कला दीर्घा::: 

मंजिल  – कृशानु रॉय

पुष्प  – ऋतु श्रीवास्तव सिन्हा

माइकल जैक्सन  – रूपाली केसरवानी

Recent Posts